Mata Ke Bhajan Lyrics In Hindi - Bhajan Lyrics

Mata Ke Bhajan Lyrics In Hindi - Bhajan Lyrics


Mata Ke Bhajan Lyrics In Hindi - Bhajan Lyrics


भोले बाबा जी की आँखों के तारे

॥ मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे ॥

तेरी काया कंचन कंचन,

तेरी सूंड सुंडाली मूरत,

तेरी महिमा अपरम्पार,

प्रभु अमृत रस बरसा जाना, आ जाना ।


सबसे पहले हम तुमको मनाएं ।

मन मंदिर मे झांकी सजाएं ।

दे दो भक्ति का दान ।

॥ मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे ॥

मेरे विधन विनाशरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

ऊँचे भवन पर  बैठी
अम्बे के भवानी माँ
जिनके दरश की है ये
दुनिया दीवानी माँ
दरश तेरे पाऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||


 
भीड़ लगी रहती है
माँ तुम्हारे द्वारे
आते जाते गूंजते है
तेरे माँ जयकारे
जयकारा लगाऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||


 
लाल पट्टी बांधे सर पे
आ रही है टोलियाँ
ला रहे मुरादो वाली
भर भर के झोलियाँ
ये अर्जी सुनाऊ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

बेनाम जग के ये रूठे
माँ कभी ना रूठे
आदि शक्ति जग जननी का
दर कभी ना छूटे
यही रम जाऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||


 
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||



माँ दुर्गा भजन Lyrics (2) :-

जयकारा… शेरोवाली का
बोलो साचे दरबार की जय

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ

बोलो जय माता दी, जय हो
बोलो जय माता दी, जय हो
जो भी दर पे आए, जय हो
वो खाली न जाए, जय हो
सबके काम है करती, जय हो
सबके दुख ये हरती, जय हो


 
मैया शेरोवाली, जय हो
भरदो झोली खाली, जय हो
मैया शेरोवाली, जय हो
भरदो झोली खाली, जय हो

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
मेरी माँ…., शेरोवालिये

पूरे करे अरमान जो सारे,
पूरे करे अरमान जो सारे,
देती है वरदान जो सारे
देती है वरदान जो सारे
दुर्गे………ज्योतावालिये
देती है वरदान जो सारे
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ

सारे जग को खेल खिलाये
सारे जग को खेल खिलाये
बिछड़ो को जो खूब मिलाये
बिछड़ो को जो खूब मिलाये
दुर्गे……….शेरोवालिये
बिछड़ो को जो खूब मिलाये
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ


 
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
शेरोवालिये…ज्योतावालिये….
शेरोवालिये…



माँ दुर्गा भजन Lyrics (3) :-

निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल

आके देख ले सजा दरबार अम्बे रानी का
सुख वरदानी का जग कल्याणी का
देती छप्पर फाड़ के मैया झोली ले तू खोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल


 

 
कौन जाने कब नसीबा बदल जायेगा
जो नहीं था सोचा वो भी मिल जायेगा
करती चमत्कार मैया आँखे बंद खोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल

निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल ||

बोल साचे दरबार की जय |

 

माँ दुर्गा भजन -Durga Maa Bhajan Lyrics (4) : –

तेरे बिन झूठा है ए संसार माता
झूठे रिश्ते सारे झूठा परिवार माता

सब मतलब दे साथी इथे कोई ना मेरा है
जो साथ निभावे गा तेरे बिन केह्दा है
घरजा दे नाल करदे लोकी प्यार माता
तेरे बिन झूठा है ए संसार माता…….

इथे विषय विकारा दे बड़े चमेले ने
सब मोह माया दे पाए लगदे मेले ने
सुख मिलदा एक मिलदे दुःख हज़ार माता
तेरे बिन झूठा है ए संसार माता….

इथे हर कोई समजे खुद नु सयाना है
तेरी जाने ना भगती हरबंस निमना है
फड सोनू दी वी बाह ना विसार माता
तेरे बिन झूठा है ए संसार माता ||

तेरे बिन झूठा है ए संसार माता
झूठे रिश्ते सारे झूठा परिवार माता ||



माँ दुर्गा भजन Lyrics (5) : –

छू ले जो मा की चौखट को, तो ज़रा भी सितारा हो जाए,
जहा ज़िक्र हो मा का मंगल हो,जन्नत का नज़ारा हो जाए
मैया के दर पर हर एक शक्ति आकर के शीश झुकती है
सारी दुनिया मा के दर्र पे लाखा कष्तो से मुक्ति पति है

सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

हो गुफा के अंदर मंदिर के अंदर
हो गुफा के अंदर मंदिर के अंदर
मा की ज्योता है नूरानिया
मा की ज्योता है नूरानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

मैया की लीला कैसा पर्वत है नीला
मैया की लीला कैसा पर्वत है नीला
मेरी मैया की लीला कैसा पर्वत है नीला
कर्दे शेर च्चबीला ओह रंग जिसका है पीला
कर्दे शेर च्चबीला ओह रंग जिसका है पीला
कठिन चढ़ाइया मा सीढ़िया लाया
कठिन चढ़ाइया मा सीढ़िया लाया
ये है मैया की निशानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

कोढ़ी को काया देवे निराधान को माया
कोढ़ी को काया देवे निराधान को माया
करती आँचल की च्चाया भिकारी बनके जो आया
करती आँचल की च्चाया भिकारी बनके जो आया
मा के द्वारे माइट संकट सारे
मिट जाए परेशानिया, मिट जाए परेशानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को माना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया ||शक देवा,

सारे जग मे आनंद छाया,

बाजे सुर और ताल,

घुंघरू की खनक खनक जाना, आ जाना ।

Mata Ke Bhajan Lyrics In English - Bhajan Lyrics 


Jai Santoshi Mata, Maiya Jay Santoshi Mata,
Apane Sevak Jan Ki, Sukh Sampati Data.
Jai Santoshi Mata

Sundar Chir Sunahari Ma Dharan Kinho,
Hira Panna Damake, Tan Shringar Linho.
Jai Santoshi Mata

Geru Laal Chata Chavi, Badan Kamal Sohe,
Mand Hansat Karunamayi Tribhuvan Jan Mohe.
Jai Santoshi Mata

Svarn Sinhasan Baithi, Chanvar Dhure Pyare ,
Dhup, Deep,Madhumeva, Bhog Dhare Nyare.
Jai Santoshi Mata

Gud Aur Chana Paramapriy, Tame Santosh Kiyo.
Santoshi Kahalai, Bhaktan Vaibhav Diyo.
Jai Santoshi Mata

Shukravar Priy Manat, Aj Divas Sohi .
Bhakt Mandali Chai, Katha Sunat Mohi.
Jai Santoshi Mata

Vinay Jagamag Jyoti, Mangal Dhvani Chai .
Vinay Kare Ham Baalak, Charanan Sir Nai.
Jai Santoshi Mata

Bhakti Bhavamay Puja, Angikrut Kijai .
Jo Man Base Hamare, Ichha Fal Dijai.
Jai Santoshi Mata

Dukhi, Daridri, Rogi, Sankatamukt Kie,
Bahu Dhan-dhany Bhare Ghar, Sukh Saubhagy Diye.
Jai Santoshi Mata

Dhyan Dharyo Jis Jan Ne, Manavanchit Fal Payo.
Puja Katha Shravan Kar, Ghar Aanand Ayo.
Jai Santoshi Mata

Sharan Gahe Ki Lajja, Rakhiyo Jagadambe,
Sankat Tu Hi Nivare, Dayamayi Ambe.
Jai Santoshi Mata

Santoshi Ma Ki Arati Jo Koi Nar Gaave,
Riddhi-siddhi Sukh Sampati, Ji Bharakar Pave.
Jai Santoshi Mata...

Post a Comment

Previous Post Next Post
close